Monday, 3 March 2008

अवनी की छुटि

अपनी छुट्टी में मैं लंदन शहर वापस गयी थी। मुझे लंदन बहुत पसंद है क्योकि वहाँ मेरा सबसे अच्छा और ईमानदार दोस्त रहता है। लंदन में अमीत, मेरे दोस्त, ने मुझे बहुत खुश रखा। पहले दिन हम दोनों ने उसके माता और पिता जी के साथ एक पुराने पब में खाना खाया और उस रात हम अमीत के दोस्तों से मिले। हम सब को बहुत मजा आया। मुझे भी अच्छा लगा कि मुझे अमीत के दोस्तों के साथ बात करने के लिये मौका मिला। शनिवार रात को अमीत और हम नाचने के लिये एक प्रसिद्ध क्लब गए थे। वहाँ हम दोनों सारी रात नाचते रहे और इतवार को हम ने पूरा दिन आराम किया। सोमवार और मंगलवार को हम ने बाथ शहर में पर्यटन किया। वहाँ रोमांस ने बड़ा स्नानग्रह बनाया जहाँ लोग नहाते थे। आजकल उस स्नानग्रह में नहाना मना है। रोमांस का 'बाथ' जहाँ था वहाँ उस शहर का नाम बाथ ही बनाया गया। उस शहर में बहूत पुरानी इमारते है जो देखने में बहुत सुंदर है। लंदन वापस लौटने के बाद हम ने अमीत के परिवार के साथ बाहर एक ग्रीक रेस्तौरांत में खाना खाया और अगले दिन मैं और अमीत ने उसके परिवार के लिये भारतीय खाना पकाया। सब को हमारा खाना स्वादिष्ट लगा और इस लिये में बहुत ही खुश थी। एक हफ्ते के बाद मुझे यहाँ वापस आना पड़ा लेकिन अमीत को छोड़कर मै बहुत उदास हो गई।

1 comment:

Praveen said...

आपने बहुत ही बढ़िया लिखा हुआ है, बस थोड़ा सा सुधार कर ले. अमीत की जगह अमित, रोमांस की जगह रोमन लोग, माता और पिता जी की जगह या तो माता जी और पिता जी लिखे या फिर माता और पिता लिखे.