Wednesday, 3 December 2008

Amandeep Kullar Final

Like Batman, only Kullar!
Amandeeps plans for his Hindi class.

Pratik Narula- Final Exam oral

Pratik Narula- Final Exam oral

presidential

presidential

Saved Video Recording

Kanishk

Hindi Oral Final Test

Bhavna Singichetti- teacher

Hindi Teacher

Agar to

Final Oral Exam - Ankit

Final

Tuesday, 25 November 2008

Wednesday, 19 November 2008

Tuesday, 4 November 2008

Marriage Moblog 32

powered by Hipcast.com

Marriage Moblog 31

powered by Hipcast.com

Marriage Moblog 30

powered by Hipcast.com

Marriage Moblog 28

powered by Hipcast

Marriage Moblog 26

powered by Hipcast.com

MP3 File

Marriage Moblog 24

powered by Hipcast.com

MP3 File

Marriage Moblog 23

powered by Hipcast.com

MP3 File

Thursday, 9 October 2008

मेरा मपसंद किताब

मेरा मनपसंद किताब गिनेस बुक ऑफ़ वर्ल्ड रेकॉर्ड्स हैं । यह किताब मुझे इसलिय पसंद आती हैं क्यूंकि यह किसी लेखक की लिखी हुई किताब नही हैं पर अद्वितीय लोगों की अद्भुत कहानियाँ हैं। इस पुस्तक में विभिन्न क्षेत्रों मैं अद्वितीय लोगों द्वारा प्राप्त की सभी प्रकार के उपलब्धियों में बारे में लिखा गया हैं। उदाहरण के लिए, सबसे बड़े व्यक्ति के बारे में, भारी व्यक्ति, सबसे अमीर व्यक्ति, व्यक्ति जो सबसे तेजी से ड्राइव कर सकता हैं।जब मैं पहली बार इस पुस्तक को पढ़ा, मैं सचमुच चकित था और इस सूची में एक दिन मेरा नाम लिखवाने की कामना की.

Tuesday, 7 October 2008

मेरी सबसे मन पसंद कहानी

मेरी सबसे मन पसंद कहानी का नाम है "लाइफ ऑफ़ पि " या पि की जिंदगी ।
यह किताब एक आधमी की जिंदगी की बारे में है उस का नाम पिस्सिने पटेल है ।
वह आपने परिवार के सात भारत में रहता है । पि को मजद में बहुत इंटेरेस्ट होता है वह हिन्दुइस्म इस्लाम और च्रिस्तिअनिटी के बारे में जन छठा है लेकिन उस को सम्ज नही अथी के लोगे एक भगवन पे क्यों नही यकीन करते है ।
यह कहानी फिर बहुत ही बड़ी मोड़ ले ते है और पि और उस का परिवार कनाडा सव्हल होना चाहिते है । वह शिप से कनाडा जाते है और रास्ते में शिप सींक हो जाता है और सिर्फ़ पि बजता है। आगे के कहानी पि के सुर्विअल के बारे में है।

मेरा सबसे मन पसंद किताब- ताओ ते चिंग


मेरा सबसे मन पसंद किताब ताओ ते चिंग है। यह किताब बहुत पुरानी है। यह ताविस्ट रेलिगिओं की किताब है लाओ तजु ने लिखा है। यह किताब बताता है कि आदमी को अपनी जिंदागी कैसे जीनी चाहिए । वह यह भी बताता है कि लोगों को बुरा नहीँ मानना चाहिए । अच्छा करने से सब ठीक हो जाता है । मुझको ये बातें बहुत अच्छी लगती हैं । सब को यह किताब पढ़नी चाहिए । किताब कहानी के जैसे नहीँ है। किताब मेँ छोटे- छोटे निबंध है । यह भी पसंद है की यह किताब छोटी है

मेरी सबसे पसंद किताब


मेरी सबसे पसंद किताब शांताराम है। मैंने यह किताब दो साल पहेली पिछले बार पढ़ी। किताब ऐसे लिखी है की पूरी कहानी लेखक के जीवन के बारे में है। कहानी बॉम्बे में होती है। शांताराम पहेले से न्यू जीलैंड से है। वह कोई-कोई चोरीयां करता है और जेल में रहा जाता है। कैसे से वह निकल जाता है और मुंबई जाता है। वहां, वह सारी ज़िन्दगी गुजरता है। लाखक कहानी मैं हिन्दुस्तानी संस्कुति के बारे में अच्छे से लिखता है।

मंद पसंद किताब


मेरा मंद पसंद किताब दा विन्ची कोड है। इस किताब का लिखक दान ब्रोव्न है। मुझे यह किताब पासूनद है क्योकि कहानी में बहुत चीजे होती है। लडाई, प्यार और कुच्छ पुराने चीजे भी मिलती है। यह किताब एक फ़िल्म में बुन गयी है। लकिन मुझे वहा बहुत पसंद नहीं आई । मैंने यह किताब दो तीन बार पड़ी है। मैं ओर कोई किताब इतने बार नहीं कबर पड़ा हूँ।









http://www.monkeysvsrobots.com/mvsrpm/images/uploads/da_vinci_code.jpg

मेरी मनपसंद किताब


मेरी मनपसंद किताब "थे ग्रेट गैटसबी" है | बचपन में जब मैं तेरह थी, मैं ने पहली बार इस किताब पदी | इस किताब का लेखक ' फ स्कोट फिट्जगेराल्ड ' है और उनकी किताबों की ख्याति बहुत अच्छी हैं और बहुत लोग किताब जानते हैं | लेकिन मैं मेरी मन पसंद किताब, "थे ग्रेट गैटसबी," के बारे में बहुत कुछ लिक सकती | कहानी में एक लड़की और लड़का है और वे एक दूस्रे प्यार करते हैं | इस लड़की का नाम दैज़ी है और इस लड़का का नाम गैटसबी है | लेकिन इस लड़की, दैज़ी, ने दूस्रे आदमी के साथ शादी की | यह आदमी कि उसने शादी , "टॉम," दूस्रे लड़की के साथ एक चक्कर है | सब लोग अमीर हैं और वे बहुत पार्टियाँ करते | इस किताब में बहुत ड्रामा है और इसलिए मुझे पसंद करती | मैं ने इस किताब चार या पॉँच बार पदी लेकिन में और बार पद सकती क्योंकि में बहुत ज्यादा पसंद है |



http://www.sheilaomalley.com/GreatGatsby.jpg

Monday, 6 October 2008

मंद पसंद किताब



मुझे बचपन में किताबे पदने का शौक नही था। अभी भी मुझे किताबे पदने पसंद नही लगता हैं। लेकिन मुझे एक किताब बहुत पसंद है। इस किताब का नाम एंजेल्स एंड दिमोंस है। किताब का लेखिका का नाम दान ब्रोव्न है। वो अच्छा लेखिका नही है लेकिन इस किताब बहुत दिलचस्प था। किताब दो लोग के बारे में है। खाहानी इटली में था। एक आदमीं और अरुँत एक बरा पहेली की बारे में सीखना चाहते हैं। वो दो लोग आखरी में समझ पाए।


फोटो क्रेडिट

"मदपई "

मेरी मनपसंद किताब का नम "मदपई " है। बहुत चोटी है लेकिन मेरे बडे भाई ने इस किताब के साथ मुझे पढना पढाये। बचपन में हर रोज उन हो ने मुझे "मदपई" पढा। बहुत महीने के बाद मैं ने यह किताब उनको पढी। यह किताब मेरा घर का कमरा में रखती हूँ। कभी कभी जब भाई और मैं घर आते, हम "मदपई" निकलते है। जब मैं शबद नहीं पढ सकती थी ती मझ पर हसते थे। यह किताब पसंद करती हूँ क्योंकि मेरा बचपन याद आता है। जब मैं "मदपई " पढता हूँ, मैं अपना परिवार को याद करती हूँ। एक दिन मैं यह किताब को अपने बच़़चों के लिए पढूँगी।

मेरी मनपसंद किताब


मुझको बचपन से पदने का शौक था। मुझे बहुत सारे किताबें पसंद है लेकिन मेरी मनपसंद किताब का नाम बोर्न कांफुसेद है। यह किताब की लेखक का नाम तनूजा देसाई हिदिएर है। बोर्न कांफुसेद एक बहुत प्यारी सी कहानी है जिसमे एक सत्रा साल की हिन्दुस्तानी लड़की अपनी पहचान खोजना चाहती है। वह अमेरिका में पली बड़ी है मगर उसके माँ बाप हिन्दुस्तानी संस्कार उसे सिखाना चाहतें है। उसके सब दोस्त अंग्रेज़ी हैं और इसके कारण वह अपने पहचान को सवाल करती है। यह एक प्रेम कहानी है और मुझे प्रेम कहानियाँ बहुत अच्छे लागतें है। वह लड़की और मैं मिलतें झुल्तें नहीं है मगर जबी मैं यह किताब पद़ती हूँ तब मैं अपने ज़िन्दगी के बारे में सोचती हूँ।
http://images.amazon.com/images/P/0439510112.01.LZZZZZZZ.jpg

मेरी मनपसंद किताब

मुझे बचपन से ही किताबें पड़ने का बहुत शौक है। एक साल पहले मैंने "माय सिस्टर'स कीपर" पड़ी थी और अब तक वह मेरे सबसे मनपसंद कीताबों में से है। यह कहानी एक तेरा साल की लड़की 'अन्ना' के बारे में है। अन्ना की बहन 'कैट' को लूकीमिया (खून का कैंसर) है और इसलिए उसके माता-पिता निर्णय लेतें है की वे 'अन्ना' को 'इन विट्रो फेर्तिलिज़शन' से पैदा करेंगे। इस तरह वह अपनी बहन कैट के लिए एक 'जेनेटिक मैच' होगी। जब से अन्ना पैदा होती है, तब से वह कैट को खून और बोन मार्रो दे रही होती है। जब कैट सोला साल की हो जाती है और अन्ना तेरा साल की, तब कैट के गुर्दे काम करना बंद कर देते हैं। अन्ना पे ज़िम्मेदारी राखी जाती है की वह कैट को अपना एक गुर्दा दे। लेकिन, अन्ना अपने शरीर के अधिकारों के लिए माता पिता पर मुकदमा एक वकील की मदद से लेती है।

आपको लगता होगा कि अन्ना का निर्णय क्रूर है और उसकी बहन की तरफ अनुचित है। लेकिन इस किताब के अंत में पता चलता है की केट चाहती थी के अन्ना उसे अपना गुर्दा नही दान करे। केट अब जीवन के माध्यम से अस्पताल में है और मरने के लिए तैयार है। परीक्षण के बाद अन्ना को चिकित्सा मुक्ति दे दीया जाता है। हालांकि, इस परीक्षण के तुरंत बाद जब अन्ना और उसका वकील अस्पताल के लिए रवाना होते हैं, वे एक गंभीर कार दुर्घटना में शामिल हो जाता है, और अन्ना मस्तिष्क मृत हो जाती है। इसलिए, उसके वकील फैसला लेते हैं की अन्ना के गुर्दा कैट को दान किए जाएँ।

मैं इस पुस्तक से बहुत छू गयी। एना अपनी बहन केट से बहुत प्यार करता है लेकिन वह अपने जीवन को अनगिनत सर्जरी द्वारा बर्बाद नहीं करना चाह्ती है। मैंने इस पुस्तक से बहुत कुछ सीखा है और सभी को इससे पड़ने की सलाह देती हूँ।

http://informationavenger.files.wordpress.com/2007/08/my-sisters-keeper-lg.jpg

Sunday, 5 October 2008

मेरी मनपसंद किताब


मेरी सबसे मनपसंद किताब का नाम है फ़ौन्तैन्हेअद। यह किताब एण रैंड ने लिखी है। यह एक जवान शिल्पकार के बारे में है जो न्यू यार्क जाता है किसी बड़ी कंपनी में काम करने के लिए। लेकिन वह अपने विचारो की कुर्बानी किसी भी हालात में नही देना चाहता है और इसी लिए वह काम छोड़ देता है। यह किताब उसकी संघर्ष की कहानी है। जो भी यह किताब पड़ेगा उसको एक नई शक्ति मिलेगी। यह कहानी में कई और भी पात्र है जो अलग-अलग मानव स्वभाव को अच्छी तरह से समझाते है। फ़ौन्तैन्हेअद में मनोरंजन भी है और ज़िन्दगी के बारे में कई उपदेश। इस से अच्छी कहानी मैंने आज तक नही पड़ी।

मेरा मनपसंद किताब


मेरा मनपसंद किताब "फरिश्तें और रक्षासें" (Angels and Demons) हैं. यह किताब भूत के बारे में नहीं हैं. किताब का लेखक देन ब्रोव्न हैं और यह उनका पेहला किताब हैं. यह किताब एक वैज्ञानिक, रौबर्ट लंगदं के बारे में हैं. यह किताब एक जीवट गाथा हैं और यह वैज्ञानिक एक छिपा हुआ समाज के राजे प्रकट कर रहे हैं. किताब मैं, इस वैज्ञानिक को बहुत सारे पहेली समझ कर अपने और अपने दोस्त की ज़िन्दगी बचाना पड़गा. इस किताब का पिक्चर २००९ मैं निकल रहा हैं. मुझे देन ब्रोव्न का दूसरा किताब, ड विन्ची का कूट (The Da Vinci Code) बहुत पसंद हैं.

मेरी पसंद किताब का नम बरी मचली


मेरी सबसे पसंद किताब का नम है बड़ा मछली। लेखक ने बहुत अच्छी किहनी लिखा है और इसने कोई जिंदगी के पाठ सिखाई भी गए है। किताब में एक पिता अपनी बचपन की कहानी अपने बेटे को सुनाता है। वह जब कहानी कहते थे तब बहुत विस्तार से कहते थे। जब उनका बेटा छोटा था तब वह कहानी मान तयैर नही था। जब पिता की अन्तिम घड़ी आई तब उन्होंने अपने बेटे को कहा कि मेरी कहानियाँ सब सचाई थी। अंत मे बेटे को विश्वाश हुआ अपनी पिता की कहानी सचाई थी।

http://www.moviecitynews.com/arrays/images/2003/big_fish.jpg

मेरी मन पसंद किताब


मुझे बचपन से पढने का शौक नही था। लेकिन मुझे एक किताब बहुत पसंद है-- भगवद गीता। यह किताब, वज़न में नही, मगर अर्थ में भारी है। यह किताब सब को जीने की राह सीखाती है। महभारत के युद्ध दरम्यान जब अर्जुन को दुविधा हुई, तब भगवान कृष्ण ने उपदेश के रूप में भगवद गीत सुनाई थी। यह किताब में कृष्ण भगवान किसान है और ऊपनिषद गाय। भगवान दूध गाय से निकालतें है और अर्जुन की मन की तरस संतुष्ट करता है। गीता रुपी दूध से अर्जुन के मन से दुविधा दूर हो जाती है और वह पुरे ध्यान और उद्देश्य से लड़ता है। सभी लोगो के ह्रदय में अछ्छाई और बुराई का युद्ध चलता रहता हैं। गीता पढने से मेरे मन में जो सवाल उठतें हैं उनके जवाबमील जाते हैं।

-
अनुज शाह

मेरा मनपसंद किताब


मेरी मनपसंद किताब का नाम 'अलेक्सान्डर the ग्रेट' है। उसका लेखक का नाम 'वलेरियो मैन्फ्रडी' है। अलेक्सान्डर ३३६ B.C. से ३२३ B.C. तक 'मैसेडोनिया' और 'ग्रीस' का राजा था। वे सिर्फ़ बीस साल का उम्र में राजा बन गाये। उसने जल्दी से बड़ा सेना बनाया और बहुत सारे देशों पर 'वार' किया। अलेक्सान्डर दुनिया पर राज करना चाहता था। पहले उसने 'पर्सिया' पर वार किया और राजा बन गया। फिर उसने 'मिडल ईस्ट' और 'ईजिप्ट' पर भी वार किया। वे भारत भी पहुंच गाये। उसने हिंदुस्तान पर भी वार किया लेकिन अपना सेना में बहुत लोग बीमार हुए और वे घर वापस जाने चाहते थे। अलेक्सान्डर भी बहुत बीमार हुआ और मर गया। वे सिर्फ़ ३२ साल का थे।

Photo credit

मेरी मनपसंद किताब



कुछ महीनों पहले मै ने एक किताब पढ़ी थी। उसका नाम था "द प्रिंसेस "। यह मेरी सबसे मनपसंद किताब है। इस किताब में साउदी अरेबिया की एक रानी ने अपनी और अपने परिवार की औरतों की जिंदगियों के बारे में लिखा है। इस रानी ने अपना नाम बदल कर अन्ग्रेज़ी लेख़क, जीन सैसन को अपनी कहानी सुनाई जिसने फिर यह कहानी लिखी। इस रानी का नाम है सुल्ताना। सुल्ताना ने बहुत अच्छे तरीके से बताया है कि कैसे राज घराने में होने के बावजूद ऐसी काफ़ी चीजें हैं जो यह रानियाँ नहीं कर सकतीँ लेकिन बहुत सी ऐसी चीज़ें भी हैं जो यह कर पाती हैं सिर्फ़ क्योंकि यह राज परिवार का हिस्सा हैं, जैसे जब इन्हे साउदी अरेबिया से बाहर जाना होता है तो इन्हे अपने पिता, पति या फिर भाई से इजाज़त के कागज़ पर दस्तखत करवाने पड़ते हैं। इन कागजों के बिना यह देश से बाहर नहीं निकल सकतीं। साथ ही साथ बहुत ऐसी रानियाँ भी हैं जो शराब और जूए में डूबी रहती हैं लेकिन उन्हें कोई कुछ नहीं कहता जब तक यह बातें आम जनता या मुतावाईन( मज़हबी पोलिस ) को पता न चलें।
सुलताना ने अपनी ज़िन्दगी के बारे में, अपनी सात बहनों की जिंदगियों के बारे में,अपनी माँ के साथ अपने रिश्ते के बारे में, अपने दुष्ट भाई, अपने पिता,पति और बच्चों के बारे में भी बताया है।
यह किताब पढने के बाद मुझे एहसास हुआ कि बहुत औरतों की जिंदगियां अभी भी बहुत ख़राब तरह से बीत रहीं हैं। मुझे लगता है कि सबको यह किताब पढ़नी चाहिए।

फोटो क्रेडिट

मेरी पसंदीदा किताब


मेरी
पसंदीदा किताब हौंद ऑफ़ थे बस्केर्विल्लेस है। इसका लेकक सर आर्थर कोनन डोयल है। यह एक म्य्स्तेरी की कहानी है। एक डिटेक्टिव और डॉक्टर एक आदमी की मदद करते हैं। इस आदमी के परिवार में एक कर्स है, जिसके वजह सब परिवार की आदमियों मरते हैं। ये परिवार के नाम बस्केर्विल्ले है। डिटेक्टिव और डॉक्टर इनके घर को जाते हैं, गड़बड़ सामने केलिए। अभी तक, मैं इस किताब पांच बार पड़ी हूँ , और शायद में दो-तीन बार और पडूँगी।

मेरी मनपसंद किताब

मेरी मनपसंद किताब 'हैरी पॉटर' है। यह किताब जादू के बारे में है। इस किताब में एक छोटे बच्चे को तेरह साल के उम्र में पता चलता है की वोह एक जादूगर है। इसके बाद वोह एक जादुई स्कूल जाता है। स्कूल में वोह दो और बच्चो के साथ बहुत अच्छे दोस्त बन जाता है। स्कूल में उसे पाटा चलता है की वोह एक बहुत मशहूर जादूगर है। बचपन में वोह एक ख़राब जादूगर के हमले से बच गया था। सोचा गया था की यह जादोगर इस हमले के बाद मर गया था, लेकिन इस किताब में वोह वापिस आ जाता है। वापिस आ के वोह हैरी को मारना चाहता है, लेकिन हैरी फ़िर से बच जाता है। यह किताब मुझे बहुत दिलचस्प लगता है क्योंकि इसमे बहुत सारे जादुई चीजे हैं।

Saturday, 4 October 2008

सब से अच्छी किताब

जब मैं छोटी थी तब मैं बहुत किताबें पढ़ती थी। आज-कल मुझे ज्यादाकिताबें पढ़ने का शौक नही है। फिर भी, मुझे अब भी सिधार्थ ''Siddartha'' सब से अच्छी किताब लगता है। मैं ज्यादा किताबें नही खरीद ती हूँ पर मेरे पास सिधार्थ की प्रति है। यह किताब एक पुरानी किताब है जो मेरे जन्म से भी पहले लिखी गई थी। सिधार्थ एक भारतीय लड़के की कहानी है। सिधार्थ की सबसे अच्छी चीज़ है उसका दिलसिधार्थ सब लोगों का सम्मान करता है। पूरी कहानी में सिधार्थ ज्ञान ढूंढने की कोशिश करता है। कहानी के अंत तक सिधार्थ को ज्ञान मिलती है। सिधार्थ बहुत लम्बी कहानी नही है पर फिर भी अच्छी है।

"था वित्चेस"


बचपन से मेरा मन पसंद किताब "था वित्चेस" हे. रोआल दाल ने १९९३ मे किताब को लिका था किताब मे एक लड़का और उनका नानी "इंग्लॅण्ड" मे रहते है दूनीया मे हर जगे वित्चेस भी रहते है वित्चेस बच्छे को गायब करते है. वित्च्स औरत होते है लेकिन कूच फर्क है वित्चेस के बाल नही होते है हाथो के जगा पन्जय है उनके तुक नीला रंग का होता है कोहा वित्चेस ने गोली से बच्छे को चूहा बनाते है आकिर मे ek बच्छा और उसका नानी "इंग्लैंड" का वित्चेस को चूहा बनाते है

http://www.betterworldblog.com/content/binary/the%20witches%201.jpg

मेरा मन पसंद किताब




बचपन से मुझे पढ़ने का बड़े शौक था। मैं बहुत किताबें पढ़ी है। मुझे सब प्रकार किताबें बहुत पसंद है। खयाली और जोखिम उपन्यास पढ़ती हूँ। मेरे पास बहुत मन पसंद किताबें है लेकिन बचपन से, मेरा सब से अधिक मन पसंद किताब का नाम, "अप्रकट बगीचा" (The Secret Garden) है। इस किताब का लेखक का नाम फ्रांसेस होद्ग्सों बुर्नेत्त (Frances Hodgson Burnett) है। वह ब्रिटिश लेखक थी, और वह यह किताब १९११ (1911) में लिखा। यह कहानी बड़ी सुंदर है। इस कहानी के बारे में है की, एक अंग्रेज़ी लड़की भारत से लन्दन जाती है। इस लड़की का नाम मैरी है। लन्दन में वह एक अप्रकट बगीचा उधारती है। मैरी बगीचे में, फूल की देख-भाल करती है, और ऐसे यह बगीचा खूबसूरत सुहावता है। कहानी में भी, मैरी बहुत दोस्तों से मिलती है। यह कहानी बड़ी सुंदर है, और मेरा मन पसंद किताब है।

Wednesday, 1 October 2008

मेरा मनपसंद किताब

पिछले साल मैंने खालेद हौस्सिनी की किताब ढ काइट रनर पड़ी। यह मुझे बहुत अच्छी लगी। यह अफगानिस्थान में रहने वाले एक परिवार की कहानी है। इसने लेखक ने बहुत की सरस भाषा में अपने देश वासियों के बारे में लिखी है। एक पिता और पुत्र के सम्बन्धों का बहुत अच्छा चित्रण किया है। किताब में लेखक ने अपने देश वासियों और अथंक वासियों के संघर्ष के बारे में बहुत सुंदर था से लिखी है। यह कहानी मेरी दिल को छुआ है। मैं चाहती हूँ की हरजन यह किताब पढ़ें।

Tuesday, 23 September 2008

टोकियो


मुझको दुनिया मे बहुत शहर पसंद हैं । मुझको टोकियो, शिमला, संतोरिणी, कैरो, और बेथलेहम आच्छा लगते है। लकिन मेरा सबसे मन पसंद का शहर टोकियो है। टोकियो मे खाना, पीना, लोग, और दुकानों दुनिया के सबसे अच्छे हैं। मैं और मेरे भाई पिचले साल टोकियो गाय। जब हम एयर पोर्ट पोंछे मुझको बाथरूम जाना था । बाथरूम मे टॉयलेट के ऊपर खूब सारे बुटोंस थेँ। टॉयलेट का सीट को टांडा या गरम कर सकतें हैं। म्यूजिक भी बजा सकतें हैं। एयर पोर्ट से निकलकर, हम फिश मार्किट गाय। यहाँ हमने सुशी खाया । यह सुशी बहुत अच्छा था। शहर बहुत साफ था और लोग बहुत अच्छे हैं। इस लिये मुझको टोकियो बहूत पसंद है।

Monday, 22 September 2008

मेरा शहर दिल्ली


भारत देश की राजधानी 'दिल्ली ' मुझे सबसे अच्छी लगती है । यह शहर बहुत ही बड़ा है। इसी शहर में मेरा जन्म हुआ । मेरे सभी रिश्तेदार दिल्ली में ही रहते है । यहाँ पर सब तरफ़ चहल पहल रहती है । यहाँ पर सभी तारा के लोग रहते है, और सभी प्यार से बोलते है । दिल्ली में बहुत साफ् और चौडी सडके है । दिल्ली में बहुत बड़े नए मॉल बन गए है जहाँ पर सभी तरह का विदेशी सामान मिलता है। दिल्ली में बहुत सारे बिल्डिंग्स है जैसे लाल किला , कुतुबमीसार , बिरला मनिदर, और सीपी ।
दिल्ली में पिछाले ४ साल से मेट्रो शरू हुई है । अब सब ही लोग आराम से सब ही जगा पहुँच जाते है । मेट्रो की वजा से सब का वक्त अच्छी तारा गुजुर जाता है । विदेशों से भी बहुत सारे विदेशी जब एअरपोर्ट से औतरेते है तो वोह दिल्ली ही जाते है । दिल्ली सभी शहरों से सुंदर बड़ा, सफे , और साफ़ है।

लन्दन

मेरा सबसे पसंद शहर लन्दन है। जब मैँ इंलैंड में रहता था मैँ लन्दन बहुत जथा था। प्राय मैँ अपने परिवार के साथ जाता था। हम सब लन्दन की इतिहास की खूब शौक है। मेरे सबसे पसंद जगह बुक्किंग्हम पैलेस है। वहां कोई-कोई लाल-वाले संतरियाँ होतें हैं। वे बहुत विचारशील होतें। हैंमुझे फुटबॉल देखना वेम्बली स्टेडियम में भी अच्छा लगता है। कभी-कभी बड़े मचेस होतें हैं। लन्दन मैं बहुत अच्छे रेस्तौरंट्स और बरस भी हैं। जब आप को भूक लग रही है ताब आपको बहुत दूर अच्छा खाना मिलने के लिया निहीं जन पड़ेगा। रथ में लन्दन बहुत खूबसुरत हो जाता है। सड़े इमारते बहुत चमकीदार होते हैं।

ग्रैंड कान्यों


मेरी पसंदीदा जगह एक जगह बड़ा शहर नहीं है , लेकिन वहां एक छोटा शहर है क्योंकि बोहुत लोग वहां जाते हैं। ये पार्क ग्रैंड कान्यों है, और एरिजोना में है। पिछले गरमियों में, मैं परिवार के साथ वहां दुसरे बार के लिए गये थे। पहले बार मैं कुछ आरोहण नहीं कर पाई, लेकिन इस बार, मैं थोड़ा किया। लोग बिल्कुल निचे तक जा सकते हैं। अगर वे निचे जन चाहते हैं, कम से कम तीन दिन लगेगा - एक दिन निचे जाने के लिए, एक दिन आराम करने के लिए, और एक दिन वापस ऊपर जाने के लिए। हमारे पास इतना समय नहीं था, थो इसलिए हम नहीं कर पाए। अगर में तीसरा बार जाउंगी, मैं ज़रूर निचे जाउंगी। निचे जाकर, लोग कैंप में रोक सकते हैं, और कैनोइंग कर सकते हैं। अगर चलने में मुश्किल है, लोग मूल ले सकते हैं। रिम के पास एक हवाई अड्डा है, जहाँ से लोग हेलीकॉप्टर रीड लेते हैं। हेलीकॉप्टर से आप ग्रैंड कान्यों अन्दर जा सकते हो, और बोहुत कुछ दिका जाएगा। मुझे ग्रैंड कान्यों से बोहुत प्यार है, क्योंकि जब मैं वहां जाती होऊं, और सब कुछ देखती होऊं, तो मुचे लगता है की मेरे लिए कुछ अच्छा होगा। जब मैं जाती होऊं, मैं घंटे के लिए रिम पर चल सकती हूँ







सिंगापोर




मेरा सबसे मनपसंद शहर सिंगापोर है. वह एक बहूत चोटी शहर और मलेशिया के बाजु में है. सिंगापोर में बहुत शानदार रात की आखेट और चिड़िया पक्षीशाला हैं. मैं सिंगापोर हर साल जाता हूँ क्योंकि मेरी मौसी वह रहती हैं. "रहफल्स" में, एक शानदार जुआखाना भी हैं. इस साल, सिंगापोर में, "फॉरमूला १" की कुल होने वाली हैं.

सिंगापोर में, बहुत सारे कस्बा जैसे के छोटा इंडिया और छोटा चीन भी हैं. सिंगापोर के बाजु में, एक बहुत बड़ा मनोरंजन पार्क "सेनतोसा इलांड" है जहा पर हर दिन एक अनुपम मेला होता है. सिंगापोर में, ४ भाष्य भोल जाती हैं - तमिल, अँग्रेज़ी, चीनी और मलेय. सिंगापोर की सबसे अच्छी और खास विशेषता वह है की सिंगापोर में, बहुत सरे क्लब और बहुत लम्बे किनारे होते हैं.

Sunday, 21 September 2008

मेरा मनपसंद शहर

मेरा मनपसंद शहर अहमदबाद है। क्योंकी मेरा जनम वहां हुआ था। अहमदाबाद एक बड़ा शहर है और गुजरात का सबसे बड़ा और सबसे मजेदार शहर है। हर वक्त कुछ करनेके लिए मिलता है। वह जगह बहुत सूखा हुआ है क्यूंकि अहमदाबाद राजस्थान के बगल मैं है मगर वहाँ बहुत सारें खूबसूरत चीज़ें है। शौपिंग और खाना दोनों चीज़ वहाँ खूब हैं।मेरा पूरा परिवार और मेरे दोस्त सब वहाँ रहते हैं और मैं उन्हें बहुत याद करती हूँ। जब मैं भारत वापिस जाती हूँ तब मैं पूरा वक़्त अहमदाबाद मैं ही बिताती हूँ। मेरा प्यारा शहर मेरे दिल मैं हर वक्त रहता है।

मेरी मनपसंद शहर


मेरी मनपसंद शहर हौंग कौंग है। मैं हौंग कौंग में पूरी ज़न्दगी रहा हूँ। हौंग कौंग एक छोटी शहर है लेकिन बहुत मज़ेदार है। हौंग कौंग में बहुत सारे देश से लोग हैं। हौंग कौंग में घूमने के लिए बहुत चीजे है जगह डिज्नीलैंड, बड़ा बुध्धा, और हज़ार बाज़ारे और माल हैं। हौंग कौंग की ' नाईट लइफ़' बहुत मजेदार है क्योकी पीने की उम्र अठारह साल है। बहुत रातो में, मैं और मेरे दोस्त बार जाक्कर मज़ा करते हैं। हौंग कौंग रात को देखने में बहुत सुंदर लगता है। वहा बहुत सारे लंबे इमार्ते और चमकते बतीयाँ हैं।
गर्मियों में, हम बहुत beaches जा सकते हैं और watersports खेल सकते हैं। सर्दी में, वहा का तापमान बहुत अच्छा है। हमारे उम्र के लोग के लिए हौंग कौंग एक मजेदार जगह है।

मेरा मनपसंद शहर

मेरा मनपसन्द शेहेर कोह समुई है। कोह समुई थाईलैंड में एक छोटी शहर है। स्कूल ख़तम करने के बाद मैं और मेरे दोस्त कोह समुई गए थे। कोह समुई एक बहुत सुंदर और साफ़ जगह है। वहा बहुत सारे 'बीचेस' (beaches) हैं। इन beaches में बालू और पानी बहुत साफ़ हैं। कोह समुई में बहुत सारे 'वाटर स्पोर्ट्स' हैं। मुझे 'जेट स्कींग' और 'पैरा गलाईडिंग ' करने में बहुत मज़ा आया था। वहा बहुत सारे दुकाने भी हैं, और सब कुछ बहुत सस्ता हैं। मैं ने बहुत सारे फिल्में, कपड़े और 'पोस्ट कार्ड्स' खरीदें। वहाँ का 'नाईट लाइफ' भी बहुत अच्छा हैं। कोह समुई के लोग बहुत हस्मुक हैं और विदेश के लोग से बहुत अच्छे से बात करते हैं और उनकी सहायता करते हैं।




मेरा मन पसंद शहर अहमदाबाद


अहमदाबाद बहुत सुंदर जगह है। अहमदाबाद भारत में गुजरात राज्य का मुख्य शहर है। चौदवीं सदी में यह शहर का नाम कर्णावती था। उस वक्त वह छोटा शहर था। अहमद शाह नाम के बादशाह ने वहां बड़ा शहर बनवाया और तब से उसका नाम अहमदाबाद रहा है। हाल में इस शहर की बस्ती सत्तर लाख है। मेरा जनम इस शहर में हुआ था। अहमदाबाद में कपड़े की मीलों के लिए मशहूर है। आज से सौ साल पहले उसे भारत का मानचेस्टर कहा जाता था। आज कल अहमदाबाद व्यापार का बड़ा सेन्टर है। अहमदाबाद शहर में उत्तरायण बड़े धूमधाम से मनाया जाता है।

मेरा सबसे पसंद त्यौहार उत्तरायण है। इस फेस्टिवल में सब पतंग उडाते हैं। पतंग उडाना मेरा सबसे प्यारा शौक है। मैं हर तीन साल उत्तरायण मनाने के लीये अहमदाबाद जाता हूँ। हमारा पुरा परिवार इस दिन साथ में मिलकर खुशियाँ मनाता हैं।


में जब भी अहमदाबाद जाता हूँ, तब हर रोज़ आइसक्रीम खाने जाता हूँ। वहाँ की आइसक्रीम बहुत अच्छी होती हैं। मेरी मन पसंद स्वाद आम हैं। अहमदाबाद में मेरे मामा रहते हैं। उनके दो लड़के के साथ खेलना मुझे बहुत अच्छा लगता हैं। हम लोग बचपन में कब्बडी खेलते थे। अब हम विडियो गेम खेलते हैं। अहमदाबाद में बहुत बड़ा प्राणी संग्रहालय हैं। वहाँ बन्दर के बहुत अच्छे खेल दिखाए जाते हैं।


-अनुज शाह का राज

लॉस वेगास


मेरा मनपसंद शहर लॉस वेगास है। पूरा दिन में, शाम को और सबह भी, लॉस वेगास बहुत कुछ चीजे करने के लिए हैं|बहुत लोग लॉस वेगास जाते क्यों की वे गॅम्बिलंग करने की पसंद हें | लेकिन और कुछ करने हैं | वहाँ बहुत होटेल्स हैं और मुझे होटेल्स जाना देखने के लिए पसंद है। मुझे गॅम्बिलंग भी पसंद है लेकिन मुझे पैसे हारती हूँ | लॉस वेगास में "सरक दु सोले" हैं और वे देखने को मजेदार हैं | शाम को लॉस वेगास बहुत रोशिन्याँ हैं और शहर को सुंदर लगता है | मुझे लॉस वेगास जाने की पसंद है लेकिन मैं वहाँ नहीं रह सकती | क्यों इक बहुत यात्री जाते हैं |

मेरा मनपसंद शहर शिकागो है


मेरा मनपसंद शहर शिकागो है। मेरे कुटुम्ब के कुछ लोग वहा रहते है। मेरी माता की बहन और उनका परिवार रहते है। मेरी मौसी के चार बेटे है। और उनके यहाँ एक छोटा बहुत प्यारा कुत्ता उसका नाम स्पैक है। इस लिए मै बहुत बार शिकागो धूमने जाती हूँ। यह बड़ा शहर है और बहुत चीजे कर सक्त्ते है। वहा बहुत अलग अलग रेस्तौरांत में अच्छा खाना मिल्ता है। मेरे परिवार को जिरादार्नो पिज़ा खाना बहुत अच्छा लगता है। वहा बहुत हिन्दुस्तानी रेस्तौरांत भी है। मेरी मनपसंद जगह दीवान गली है। यह गली में बहुत हिन्दुस्तानी दुकाने और रेस्तौरांत है। वहा आपको कोई भी तरह होगा गुजुरती , पंजाबी , मद्रासी , और हिन्दी खाना मिल्ता है। पिछले साल मैने वहा से एक साडी खरिदी थी। कभी कभी वहा से मै मिठाइया खरीदती हूँ। मै शिकागो में म्यूज़ियम और मनोरंजन पार्क गयी थी।

शिकागो


मेरा मंप्रसंद शहर शिकागो है। मे वहा बहुत बहार जचूका हू। एक बार मै अपने परिवार के साथ गया था। पहले हम लोग शाहर मै पेदल गूमे। शिकागो मै बहुत खुबसूरत ऊधाने है। मलिनियम पार्क मै एक बड़ा स्टील का गोला है। मैंने अपने पर्ची का फोटो निकला। पास मै शादी चल रही थी। मैंने उनके फोटो भी निकला। फिर हम लोग सीयर्स टावर देखने गये। वह अमेरिका का सब से ऊछा एमर्रत है। सब से ऊपर जा कर मूजे लगा कि मै दूनिया का रजा था। निच्चे लोटकर, हम लोग भोजनालय मै खाना खाया। शिकागो का पित्ज़ा एकदम टॉप है। मैंने पेट भरकर खाया। फिर हम लोग बापस की मन्दिर देखने गये। वह बहुत बड़ा है। प्रणाम करने के बाद, हम लोग घर चले।

मेरा मनपसंद शहर


इस दुनिया में, मेरा मनपसंद शहर शिकागो। मैं शहर से तीस मिनट दूर रहती हूँ। वहा से बहुत अच्छे रेस्ट्रान्ट और शौपिंग की दुकानें है। गर्मी में, मैं नॉर्थ अवेनुए नदी जाना पसंद करती हूँ। दोस्तों के साथ एक सुंदर थिएटर में मुसिकाल्स देखते हूँ। मेरे बड़े चचेरे भाई-बहन शिकागो में रहते हैं। इसिलए मैं शहर जाकर उनसे मिल सकती हूँ। शिकागो घर जैसी लगती है। जब मैं काम शूरू करेंगी, मैं वहा रहना चाहय्ती हूँ। शिकागो में बहुत लोग रहते है और वहा हमेशा देखने और घुमने की चीजे हैं।

मेरा मनपसंद शहर


मुझे वह शहर सबसे ज़्यादा पसंद है जिसमे मैं पली बड़ी हूँ और वह शहर है दान्बुरी कनेक्टिकट। इस शहर मैं मेरा जनम हुआ था और मैं वहा तब से रहे रही हूँ। दान्बुरी छोटा शहर नहीँ है लेकिन बहुत बड़ा भी नहीँ है। दान्बुरी में करीब ८०,००० लोग रहते है। यह शहर कभी खाली नहीँ लगता। दान्बुरी में एक बड़ा सा माल भी है जहा सब लोग खरीददारी करने के लिए जाते है। सब बच्चे को दान्बुरी में माल सबसे ज़्यादा पसंद होगा। मैं कही भी जाऊ लेकिन मुझे घर जैसा एक ही जगा पे लगता है और वह दान्बुरी में है। दान्बुरी में २० साल रहकर लगता है की आब कोई और शहर को में घर नहीँ कहे सकुंगी।


मेरा मून पसंद शहर

मेरा सबसे मुंड पसंद जगह मुंबई है। मेरे परिवार के बहुत लोग वहा रहते है। मुझे रेलगाडी में जाना पसंद है। मुझे वहा का खाना बहुत पसंद है। दल बाटी, पानी पूरी, बताता वड़ा, और धबेली सब मेरा मुंड पसंद खाना है। मुझे मेरे रिश्तेडरओ के सात वक्त गुज़रना बहुत पसुन्द है। हम बहुत साडी चीजे करते है। हम बाहर घुमने जाते है और बाहर खेलते है। मेरी नानी और नाना और मासा और मासी वहा रहते है। पिछले बार जब में वहा गया तो हम सब एस्सेल वर्ल्ड गए। बहुत मज़ा आया।

मेरा मनपसंद शेहर -- प्राग


प्राग मेरा सबसे मनपसंद शेहर है। वह चेक रेपुब्लीक की राजधानी है और यूरोप में है। प्राग से मेरी बहुत साड़ी यादें जुड़ी हुईं हैं। मैं और मेरे दोस्त प्राग दो साल पहले गए थे। हमने हवाई जहाज़ में बहुत मस्ती करी थी और खूब हसे। जैसे ही हम हवाई जहाज़ से उतरे, पहली नज़र में मुझे प्राग से प्यार हो गया! वहाँ की सड़कें पत्थरों की बनीं थीं और मौसम बहुत अच्छा था। हलकी सी बारिश भी हो रही थी। प्राग बहुत सुंदर जगह है और वहाँ के लोग भी अच्छे हैं। प्राग में हम एक छोटे से होटल में रुके थे। हमने वहाँ बहुत सारे जगह देखे।

लेकिन, मैं ग्रीस और हवाई भी जाना चाहती हूँ । इसलिए, शायद मेरा सबसे मनपसंद शेहर आख़िर आख़िर बदल जाए! ;)

Saturday, 20 September 2008

सिडनी


अमेरिका से बाहर मुझे सिडनी सब से अच्छा शहर लगता है। जब गैं छोटा थी तुब गैं सिडनी में रहती थी। गैं सिडनी में थोड़े सालों के लिये रही क्योंकि मेरे पिताजी तब वहां विश्वविद्यालय जाते थे। सिडनी की सबसे अच्छी चीज़ है उसका मौसम। जब भी बाहर जाते हो गरमी होती है। वहां पे बहूत लोग रहते हैं पर भी सिडनी बहूत साफ सा शहर है। सिडनी के इलावा मुझे ऑस्ट्रेलिया वयसे भी सुंदर लगता है। ऑस्ट्रेलिया में बहूत जादा बड़े शहर नही हैं। इसकी वजा से वहां पर सब जगहें प्राकृतिक सुन्दरता हैं।