Sunday, 21 September 2008

मेरा मनपसंद शहर


मुझे वह शहर सबसे ज़्यादा पसंद है जिसमे मैं पली बड़ी हूँ और वह शहर है दान्बुरी कनेक्टिकट। इस शहर मैं मेरा जनम हुआ था और मैं वहा तब से रहे रही हूँ। दान्बुरी छोटा शहर नहीँ है लेकिन बहुत बड़ा भी नहीँ है। दान्बुरी में करीब ८०,००० लोग रहते है। यह शहर कभी खाली नहीँ लगता। दान्बुरी में एक बड़ा सा माल भी है जहा सब लोग खरीददारी करने के लिए जाते है। सब बच्चे को दान्बुरी में माल सबसे ज़्यादा पसंद होगा। मैं कही भी जाऊ लेकिन मुझे घर जैसा एक ही जगा पे लगता है और वह दान्बुरी में है। दान्बुरी में २० साल रहकर लगता है की आब कोई और शहर को में घर नहीँ कहे सकुंगी।


1 comment:

परमजीत बाली said...

लगता है आप का शेर जंगल में शिकार करने गया है:)