Sunday, 5 October 2008

मेरी पसंद किताब का नम बरी मचली


मेरी सबसे पसंद किताब का नम है बड़ा मछली। लेखक ने बहुत अच्छी किहनी लिखा है और इसने कोई जिंदगी के पाठ सिखाई भी गए है। किताब में एक पिता अपनी बचपन की कहानी अपने बेटे को सुनाता है। वह जब कहानी कहते थे तब बहुत विस्तार से कहते थे। जब उनका बेटा छोटा था तब वह कहानी मान तयैर नही था। जब पिता की अन्तिम घड़ी आई तब उन्होंने अपने बेटे को कहा कि मेरी कहानियाँ सब सचाई थी। अंत मे बेटे को विश्वाश हुआ अपनी पिता की कहानी सचाई थी।

http://www.moviecitynews.com/arrays/images/2003/big_fish.jpg

3 comments:

परमजीत बाली said...

जानकारी के लिए आभार।

Anuj Shah said...

निशा का पसंद की किताब बहुत अच्छी है। मै बारी मछली का किहनी पढ़ सका हुआ। मुझे चाहिए पिता बच्चे का विश्वास कर था।

अनुज शाह

Ekta said...

मैंने इस किताब की फ़िल्म देखि है मेरे अंग्रेज़ी क्लास में। इस कहानी को समझने में मुझे काफी वक्त लगा लेकिन जब मैंने इसका मतलब समझा मुझे यह कहानी बहुत पसंद आई। निशा तुम्हारी चोइस अच्छी है।