Sunday, 5 April 2009

राखी-बंधन

मेरा मन पसंद त्योहार है राखी। यह मेरा पसंदीदा त्योहार इसलिए हैं क्योकि इसमें मेरी बहन भारत में मुझे हर सल् एक हाथ में बंधने के लिए एक राखी भेजती हैं। यह त्योहार हिन्दी कलेंडर में श्रवण महीने का हैं। मेरी बहन भारत में से एक रक्षा-सूत्र भेजती हैं और यह धागा से राक्षस भयभीत रहते हैं। दुसरे लोग जब राखी-बंधन मानते हैं, भाई और बहन मुह में एक दुसरो से मिठैया खिलते हैं। जब बहन (खून से या सिर्फ़ अच्छी दोस्त) राखी देती हैं भाई से, तो भाई उसको तोफा और संरक्षण देते हैं।

भारत की इतिहास में बहुत वक्त ऐसा है जब बहन भाई से संरक्षण मांगती हैं। रानी कर्णावती ने एक राखी हुमायूँ को भेजा था जब वह बहादुर शाह से इराती थी। राखी एकजुटता और सगोत्रता से भी भेजता हैं। भारत के स्वतंत्र के वक्त में बहुत राखी लोगो ने भेजी थी।


-अनुज शाह

1 comment:

Dr. Smt. ajit gupta said...

यह भारत ही है जहाँ हम स्‍त्री और पुरुषों को भाई और बहन के रूप में देखते हैं और ऐसे त्‍योहार हमारे लिए सबसे प्रिय होते हैं। इसके विपरीत हम एक ऐसा त्‍योहार विकसित करने में लगे हैं जिसमें बच्‍चे तक प्रेमी और प्रेमिका का ही चरित्र निभाते हैं। उसे कहते हैं वेलेन्‍टाइन डे। जब विवेकानन्‍द शिकागो गए थे तब उनके सम्‍बोधन से ही सारी दुनिया हिल गयी थी। उन्‍होंने कहा था कि अमेरिकावासी मेरे भाइयो और बहनो। हम रिश्‍तों में पवित्रता की तलाश करते हैं इसीलिए सारे त्‍योहारों में ही हमारे पवित्र रिश्‍तों की सुगंध आती है।